IT Companies ने जून तिमाही में जमकर की भर्ती, जानें TCS, Wipro और इंफोसिस ने दी इतनी नौकरियां

0
37

[ad_1]

IT Companies Hiring: भारत की टॉप की इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (आईटी) कंपनियों ने जून तिमाही में कुल 50,000 से अधिक लोगों को नौकरी दी है. हालांकि कर्मचारियों के जल्द नौकरियां बदलने, मार्जिन का दबाव, ह्यूमन रिसोर्स, कॉस्ट प्रेशर और कर्मचारी-संबंधी चुनौतियों ने आईटी इंडस्ट्री के लिए समस्या खड़ी कर दी है.

आईटी सेक्टर में नौकरियां आती रहेंगी- ये है कारण
आईटी सेक्टर के विशेषज्ञों का कहना है कि आईटी की प्रतिभाओं के लिए खींचतान तब तक जारी रहेगी जब तक कि उद्योग के लिए तैयार मानव संसाधनों का बल उल्लेखनीय रूप से नहीं बढ़ जाता. प्रमुख बाजारों से लगातार सौदे मिलने के कारण काम की मात्रा तो बढ़ रही है पर इसके मुताबिक कर्मचारियों की मौजूदगी नहीं हो पा रही है. बाजार विशेषज्ञों की मानें तो आईटी कंपनियां मांग के अनुरूप रिक्त पदों को भरने की कोशिश में जुटी हैं वहीं नॉन टेक्नोलॉजी कंपनियां भी तकनीकी लोगों की तलाश में है ताकि डिजिटल दुनिया में रचे-बसे उनके कस्टमर्स की जरूरतें पूरी की जा सकें.

देश की टॉप तीन आईटी कंपनियों ने कीं इतनी भर्ती

देश की टॉप तीन आईटी कंपनियों- टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस), इंफोसिस और विप्रो ने ही जून तिमाही में करीब 50,000 लोगों को नौकरी पर रखा.

इंफोसिस ने जून तिमाही में 21,171 भर्तियां की हैं क्योंकि उसके यहां कर्मचारियों का पलायन बढ़कर 28.4 फीसदी हो गया है जो मार्च 2022 में 27.7 फीसदी था. एक साल पहले यह आंकड़ा 13.9 फीसदी था.

विप्रो ने जून तिमाही में 15,446 पेशेवरों की भर्ती की. उसके यहां पलायन दर 23.3 फीसदी है. मार्च तिमाही में यह 23.8 फीसदी और पिछले वर्ष 15.5 फीसदी था.

टीसीएस ने जून तिमाही में 14,136 पेशेवरों को नौकरी पर रखा. कंपनी में पलायन दर बढ़कर 19.7 फीसदी हो गई जो मार्च तिमाही में 17.4 फीसदी और पिछले वर्ष 8.6 फीसदी थी.

क्या कहते हैं आईटी इंडस्ट्री के जानकार
टीमलीज डिजिटल के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील सी बताते हैं कि अगले पांच वर्ष में प्रौद्योगिकी क्षेत्र में कुल 60 लाख नए रोजगार तैयार होंगे. सुनील कहते हैं कि आने वाले समय में आईटी कंपनियों पर मार्जिन का दबाव रहेगा क्योंकि सौदों का आकार नहीं बढ़ा है. डेलॉयट इंडिया के निदेशक वाम्सी कारावडी ने कहा, “भर्तियां महामारी से पहले के स्तर पर पहुंच चुकी हैं और कुछ मायनों में तो यह उससे भी पार चली गई है.” इस अनुकूल रोजगार परिदृश्य से जहां टेक्नोलॉजी प्रोफेशनल्स काफी उत्साहित हैं वहीं एंप्लॉयर्स को अभूतपूर्व स्तर का पलायन, ह्यूमन रिसोर्स की बढ़ती लागत और एक समय में एक से ज्यादा नौकरी करने की प्रवृत्ति परेशान कर रही है.

ये भी पढ़ें

Health Insurance: क्या लाइफ इंश्योरेंस कंपनियां फिर से हेल्थ इंश्योरेंस भी बेचेंगी, जानें क्या है पूरी खबर

Cryptocurrency Rate Today 30 August: क्रिप्टोकरेंसी बाजार में Bitcoin उछली-इथेरियम चमकी, जानें लेटेस्ट रेट्स

[ad_2]

Source Link