‘रूस वालों घर जाओ…’ यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की बोले

0
31

[ad_1]

Volodymyr Zelensky Tells Russians Go Home: रूस-यूक्रेन (Russia- Ukraine War) की जंग में अब एक नया मोड़ आया है. इस साल फरवरी में शुरू हुई इस जंग में हजारों लोग मारे गए और लाखों लोग दर-बदर हुए हैं. हालांकि हफ्तों से रूस-यूक्रेन की सेनाओं के एक दूसरे पर हमले बंद थे. युद्ध में हफ्तों के गतिरोध के बाद अब यूक्रेन ने हमले की आक्रामक पहल की है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की (Volodymyr Zelensky) ने रूसी सैनिकों (Russian Troops) से दक्षिणी शहर खेरसॉन (Kherson) से वापस जाने के लिए कहा है. दरअसल यूक्रेन की सेना यहां अपने इलाकों को रूसी सेना से वापस लेने के लिए हमले कर रही है. उधर रूसी सेना कह रही है कि यूक्रेन का यह हमला कामयाब नहीं हो पाया है.

यूक्रेन अपने इलाके वापस लेने के लिए तत्पर

गौरतलब है कि रूस-यूक्रेन की जंग का फैसला अभी तक नहीं हो पाया है. हालांकि बीते कुछ हफ्तों से ये दोनों देश एक-दूसरे के ऊपर हमलों को अंजाम नहीं दे रहे थे. इस बीच अपने इलाकों को वापस लेने के लिए यूक्रेन तत्पर नजर आ रहा है और उसने हमले करना शुरू किया है. यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने सोमवार को देर रात अपने संबोधन में कसम खाई थी कि यूक्रेनी सेना रूसी सेना का “सीमा तक” पीछा करेगी. उन्होंने कहा, “अगर वे जीवित रहना चाहते हैं, ये रूसी सेना के भागने का वक्त है. घर जाओ,” उन्होंने कहा. ज़ेलेंस्की ने कहा,  “यूक्रेन जो अपना है वो वापस ले रहा है मतलब अपने इलाकों को वापस ले रहा है.” ज़ेलेंस्की के एक वरिष्ठ सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच (Oleksiy Arestovych) ने कहा कि रूसी सेनाएं अपनी रक्षा करने में कामयाब नहीं हो पाईं. उन्होंने कहा कि कुछ ही घंटों में उनकी सेना टूट गई थी.

वरिष्ठ सलाहकार एरेस्टोविच ने बताया कि यूक्रेनी सेना उन घाटों पर गोलाबारी कर रही थी, जिनका इस्तेमाल रूस खेरसॉन क्षेत्र में निप्रो (Dnipro) नदी के पश्चिमी तट पर अपनी आपूर्ति के लिए कर रहा था. इस युद्ध में हजारों लोगों की जान गई. लाखों लोग बेघर हुए. शहर के शहर के बर्बाद हो गए और अभूतपूर्व आर्थिक प्रतिबंधों की वजह से  वैश्विक ऊर्जा और खाद्य संकट का सामना दुनिया के लोगों को करना पड़ा. जंग का जोर ऐसा तेज था कि दक्षिण यूक्रेन के ज़ापोरिज्जिया परमाणु संयंत्र (Zaporizhzhia Nuclear Plant) के पास गोलाबारी से विकिरण आपदा के खतरा की आशंका पैदा हो गई.

रूस ने कहा सफल नहीं रही यूक्रेन की सेना

आरआईए (RIA) समाचार एजेंसी के मुताबिक रूस के रक्षा मंत्रालय ने (Russia’s Defence Ministry) कहा कि यूक्रेनी सैनिकों ने मायकोलाइव ( Mykolaiv) और खेरसॉन क्षेत्रों में आक्रामक हमलों की कोशिश की थी. रूसी रक्षा मंत्रालय का कहना है कि दुश्मन के आक्रामक हमले बुरी तरीके से विफल हुए हैं. हालांकि यहां रूस के नियुक्त किए गए प्राधिकरण के अधिकारियों ने आरआईए को बताया कि  यूक्रेन के राकेट हमले की वजह से रूस के कब्जे वाले नोवा काखोवका (Nova Kakhovka) शहर में पानी और बिजली आपूर्ति बाधित हो गई है. शहर के अधिकारियों और प्रत्यक्षदर्शियों ने सोमवार को न्यूज एजेंसी को बताया कि बंदरगाह शहर मायकोलाइव पर रूसी गोलाबारी के बाद भी यूक्रेन हावी रहा और रूसी सेना इसे कब्जाने में कामयाब नहीं हो पाई है. इस हमले में कम से कम दो लोगों की मौत हो गई करीबन 24 घायल हो गए और घरों का सफाया हो गया.

ये भी पढ़ेंः

Russia-Ukraine War: यूक्रेन के रेलवे स्टेशन पर रूस का बड़ा हमला, 22 लोगों के मारे जाने का दावा

Ukraine I-Day: डर के साये में मनाया जा रहा यूक्रेन का स्वतंत्रता दिवस, कीव में तबाह टैंकों की प्रदर्शनी- बड़ा हमला कर सकता है रूस

[ad_2]

Source Link