राहुल गांधी ने किया ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का आगाज, सोनिया गांधी ने भी जारी किया बयान

0
30

[ad_1]

Congress Bharat Jodo Yatra: कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का बुधवार को राहुल गांधी ने आगाज कर दिया है. साल 2024 के आम चुनावों ( 2024 General Elections) को देखते हुए कन्याकुमारी (Kanyakumari) से पार्टी की इस यात्रा को हरी झंडी दिखाई गई. 3,500 किलोमीटर के इस पैदल मार्च को 150 दिनों में पूरा किया जाएगा और इसका अंतिम पड़ाव कश्मीर (Kashmir) होगा. यात्रा को कांग्रेस पार्टी में जान फूंकने की कवायद के तौर पर भी देखा जा रहा है. सोनिया गांधी भी इसे लेकर खासी उत्साहित हैं. उन्होंने कहा कि वो इसमें पूरे दिल से शिरकत करेंगी.

पार्टी के लिए संजीवनी का काम करेगी

सोनिया गांधी ने कहा, ”यह गौरवशाली विरासत वाली हमारी महान पार्टी के लिए ऐतिहासिक अवसर है. मुझे उम्मीद कि यह हमारे संगठन के लिए संजीवनी का काम करेगा.” गौरतलब है कि सोनिया गांधी मेडिकल चेकअप के लिए विदेश में हैं. हाल ही में उनकी मां की मौत हुई है.

राहुल गांधी ने ‘भारत जोड़ो’ यात्रा शुरू करने से पहले पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के स्मारक पर श्रद्धांजलि अर्पित की और एक प्रार्थना सभा में शामिल हुए. तमिलनाडु के श्रीपेरंबदूर में तीन दशक पहले एक चुनावी रैली के दौरान आत्मघाती हमला करके राजीव गांधी की हत्या कर दी गई थी.

राहुल गांधी का बीजेपी पर निशाना

कन्याकुमारी से अपने भाषण में  राहुल गांधी ने कहा कि मुझे तमिलनाडु आकर बहुत खुशी होती है.  आज़ादी के इतने साल बाद भी सिर्फ कांग्रेस ही नहीं भारत के करोड़ों लोग भारत जोड़ो यात्रा की जरूरत महसूस कर रहे हैं. कुछ लोग झंडे को देखते हैं तो झंडे में तीन रंगों और चक्र को देखते हैं. लेकिन सिर्फ यह इतना ही नहीं है , यह इससे कहीं बढ़कर है. यह झंडा इतनी आसानी से हमें नहीं मिला.

राहुल गांधी ने कहा कि आज बीजेपी की सरकार में हर एक संस्था खतरे में है. वो इस झंडे को अपनी नीजि संपत्ति समझते हैं. मुश्किल यह है कि वो भारतीय लोगों को समझ नहीं पा रहे हैं. उन्होंने ईडी की पूछताछ का जिक्र करते हुए कहा कि वो कितने घंटे इंटोरेगेशन कर लें, एक भी विपक्ष का नेता नहीं डरने वाला है.

राहुल गांधी ने कहा, ”बीजेपी सोचती है कि वो इस देश को धार्मिक, भाषा के आधार पर बांट सकते हैं. जो नहीं हो सकता. यह देश हमेशा यूनाइटेड रहेगा. भारत आज सबसे बुरी आर्थिक क्राइसिस के दौर में है.”

मंगलवार की रात यहां पहुंचे वायनाड के सांसद राहुल गांधी ने अपने पिता के स्मारक पर पुष्प अर्पित किए और प्रार्थना सभा में शामिल हुए. कांग्रेस नेता ने अपने पिता के स्मारक स्थल पर एक पौधा भी रोपा. कांग्रेस की तमिलनाडु इकाई के प्रमुख के एस अलागिरि और पार्टी के कई वरिष्ठ नेता उनके साथ थे.

राहुल जनसभा से पहले कन्याकुमारी के ‘गांधी मंडपम’ में एक प्रार्थना सभा में शामिल हुए. इसके बाद उन्हें तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने राष्ट्र ध्वज सौंपा. यात्रा शुरू करने से पहले राहुल कन्याकुमारी में विवेकानंद रॉक मेमोरियल, तिरुवल्लुवर स्टैच्यू और कामराज मेमोरियल भी गए. पदयात्रा 11 सितंबर को केरल पहुंचेगी और अगले 18 दिनों तक राज्य से होते हुए 30 सितंबर को कर्नाटक पहुंचेगी.

ये भी पढ़ें:

Bharat Jodo Yatra: कन्हैया कुमार बोले- BJP की रथ यात्रा सत्ता के लिए थी, कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा सच्चाई के लिए है

150 दिन में 3570 किमी, कन्याकुमारी से कश्मीर तक का सफर… ‘Bharat Jodo Yatra’ का आज से आगाज, 10 बातें

[ad_2]

Source Link